सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

पोस्ट

मार्च, 2021 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

धरती माता पर निबंध | धरती माता पर निबंध इन हिंदी | Essay on dharti mata in hindi.

आज हम अपने चारों दिशाओं में कहीं भी देखते हैं तो हमें जल, वायु, पेड़ पौधे और अन्य चीज दिखाई देती है। यह सब कुछ हमें प्रकृति से मिलता है। धरती माता पर निबंध essay on dharti mata in hindi  में हम जानेंगे की कैसे भारतीय संस्कृति में धरती को मां का दर्जा दिया गया है। धरती हमारी मां है हमारी धरोहर है और हमें अपनी धरोहर को संभाल के रखना चाहिए और धरती माता की रक्षा करनी चाहिए। और हमेशा साफ सुथरा रखना चाहिए। आज के इस लेख में धरती माता पर निबंध इन हिंदी में हम धरती मां पर जानकारी प्राप्त करेंगे। पृथ्वी बचाओ पर निबंध हिंदी में प्रस्तावना:- धरती माता पर निबंध  आज सभी भारत वासियों को अपनी धरती मां को बचाने के लिए पूर्ण योगदान देना होगा। और धरती मां की रक्षा करनी होगी। क्युकी हमारे जीवन का अस्तित्व ही धरती मां से जुड़ा हुआ है वो हैं तो ही हम जी रहे हैं। पूरे भूमंडल में केवल पृथ्वी यानी कि धरती माता ही है जहां पर जीवन संभव है वरना अन्य ग्रह पर तो जीवन की आस भी नहीं है। धरती माता पर निबंध इन हिंदी धरती माता का सौंदर्य:- धरती माता का सौंदर्य पूरा का पूरा मनमोहक है। जिसको देखते हैं मन प्रसन्न हो

पृथ्वी बचाओ पर निबंध हिंदी में | essay on save earth in hindi

आज हम बात करेंगे पृथ्वी बचाओ पर निबंध हिंदी में essay on save earth in hindi पृथ्वी हमारा ग्रह है। हम सब पृथ्वी पर ही रहते हैं। एक प्रकार से ये हमारा घर ही है और हमारे भारत देश में पृथ्वी को मां का दर्जा दिया गया है। पृथ्वी हमारी माता है और हम मनुष्यों के अनैतिक व्यवहार के कारण से पृथ्वी नष्ट होती जा रही है। इसका ख्याल किसी को नहीं है। पृथ्वी पर कुछ सकारात्मक बदलाव लाने के लिए धरती बचाओ या पृथ्वी बचाओ पर निबंध हिंदी में हम आपके लिए लेकर आए हैं। इसको पूरा पढ़ने के बाद आपमें पृथ्वी को बचाने की ऊर्जा शक्ति जागृत होगी। पृथ्वी दिवस पर निबंध 2021 (पूरी जानकारी हिंदी में) प्रस्तावना पृथ्वी पर वाक्य:- हमारे ब्रह्मांड में पृथ्वी सबसे ज्यादा अनमोल ग्रह है। क्युकी पृथ्वी अकेला ऐसा ग्रह है जिसपर जीवन सार्थक है और पृथ्वी हम जीव जंतुओं को जीने के लिए ऑक्सीजन और पीने के लिए पानी भी देती है। पृथ्वी की रक्षा हमारा सबसे बड़ा उत्तरदायित्व है। क्युकी पृथ्वी पर पाए जाने वाले प्राकृतिक संसाधन धीमे धीमे कम होते जा रहे हैं। इसने पृथ्वी पर जीवन को भी खतरे में डाल दिया है। इसी कारण हमारे पृथ्वी पर से

होली के महत्व पर निबंध | होली के महत्व पर निबंध हिंदी में | essay on importance of holi in hindi

आज हम बात करेंगे होली के महत्व पर निबंध हिंदी में essay on importance of holi in hindi होली का त्यौहार हमारे पूरे भारतवर्ष में बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है। रंगों की बौछार होती है, गुलाल अथवा अबीर के रंग उड़ते हैं और बड़े ही धूम धाम से होली का त्योहार मनाया जाता है। क्या आप होली के महत्व पर निबंध खोज रहे हैं तो आप एकदम सही पोस्ट पढ़ रहे हैं। इसमें आपको होली के महत्व पर निबंध के बारे में पूरी जानकारी मिल जाएगी। होली पर निबंध इन हिंदी होली का त्योहार पूरे विश्व भर में जाना जाने लगा है और हम सभी भारतवासी इस पर्व को बड़े धूम धाम से मनाते हैं। होली का त्योहार पूरे भारत में खुशियों का रंग लेके आता है और सभी के चेहरे इस दिन खिल उठते हैं। होली के महत्व पर निबंध हिंदी में हो ली के महत्व पर निबंध:- आज हम होली के महत्व पर निबंध में जानेंगे की होली क्यों मनाई जाती है, और होली के त्योहार का क्या महत्व है और इसके पीछे की पौराणिक और ऐतिहासिक कथा क्या है। तो चलिए शुरू करते हैं:- प्रस्तावना:- होली एक ऐसा त्यौहार है जिससे हम सभी मित्रों, पड़ोसियों, और रिश्तेदारों के प्रति हमारा प्यार बढ

होली पर निबंध | होली पर निबंध हिंदी में | essay on holi in hindi

आज हम बात करेंगे होली पर निबंध हिंदी में essay on holi in hindi होली का त्यौहार हमारे पूरे भारतवर्ष में बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है। रंगों की बौछार होती है, गुलाल अथवा अबीर के रंग उड़ते हैं और बड़े ही धूम धाम से होली का त्योहार मनाया जाता है।  पृथ्वी दिवस पर निबंध इन 2021 होली का त्योहार पूरे विश्व भर में जाना जाने लगा है। आज के इस निबंध में हम जानेंगे होली पर निबंध essay on holi in hindi के बारे में पूरी जानकारी और होली का त्योहार कैसे मनाया जाता है। होली पर निबंध हिंदी में होली पर निबंध 150 से 200 शब्द:- प्रस्तावना:- होली रंगों का त्योहार है , जब ढेर सारे रंग हवा में उड़ते है और चेहरों पर हसी होती है जोकि साफ दर्शाती है कि होली का त्योहार आ गया है। और ये त्योहार हर किसी के चेहरे पर हसी ला देता है। होली पर हम एक दूसरे के साथ हसी ठिठोली करते हैं और सिर्फ हम ही नहीं बल्कि हर कोई उत्साह से झूमता है। हर धर्म के लोग इस पावन त्यौहार को बड़े ही धूम धाम से मनाते हैं। रंगों का ये त्योहार सभी संप्रदाय, जाति, धर्म, आदि के बंधन खोल कर भाई चारा का संदेश देता है। हिन्दू, मुस्लिम, सिख

रेलवे स्टेशन के दृश्य पर निबंध। Essay on scene of Railway Station.

आज हम रेलवे स्टेशन के दृश्य पर निबंध | essay on scene of railway station के बारे में बात करेंगे हमारे जीवन में रेलगाड़ी एक अभिन्न अंग बन गया है। अपने भारत यह दुनिया में ऐसा कोई इंसान नहीं होगा जिससे कि रेलवे स्टेशन और रेलगाड़ी को नहीं देखा होगा। हम अधिकतर जहां भी जाते हैं रेलगाड़ी से ही जाते हैं। वैसे तो विज्ञान ने हमें कई सारे साधन दिए हैं जिससे हम यातायात कर सकते हैं। परंतु रेल का सफर सबसे सुलभ माना जाता है और इससे हम एक स्थान से दूसरे स्थान पर बड़ी ही जल्दी पहुंच जाते है। आज हम रेलवे स्टेशन के दृश्य के बारे में बात करेंगे। रेलवे स्टेशन पर निबंध प्रस्तावना / भूमिका :- जब हम रेलवे स्टेशन के अंदर प्रवेश करते हैं तो हमें एक प्लेटफार्म नजर आता है जहां पर काफी भीड़ होती है और फेरी लगाने वाले और समान बेचने वाले दुकानदार अपनी दुकान लगाते हुए दिख जाते हैं। प्लेटफार्म पर गाड़ियों का आवागमन लगा रहता है। खाने पीने और अन्य चीजों की वस्तुओं की बिक्री होती रहती है और साथ ही साथ लोगो को ट्रेनें  एक स्थान से दूसरे स्थान पर छोड़ने का काम करती है। तरह तरह के लोग अपनी गाड़ी आने का बेसब्री से इंतज़ार

रेल दुर्घटना पर निबंध Essay on Train Accident in hindi

मनुष्यों ने यातायात और घुमक्कड़ी के लिए कई सारे साधनों का निर्माण किया है। जिसमे की रेलगाड़ी एक प्रमुख साधन है। जोकि बड़ी ही आसानी से हमें एक स्थान से दूसरे स्थान तक ले जाती है। रेल गाड़ी को हम ट्रेन भी कहते हैं। ये ट्रेन हमें रेलवे स्टेशन से ही मिलती है। और पटरियों पर चलती है। पर क्या आपको पता है। इन रेल गाड़ियों से हर साल कितनी दुर्घटनाएं होती है। अगर नहीं तो आज हम आपको रेल दुर्घटना पर निबंध इन हिंदी | essay on Train Accident in hindi में आपको डिटेल में इसके बारे में बताएंगे। रेलवे स्टेशन पर निबंध इन हिंदी रेल दुर्घटना पर निबंध इन हिंदी रेल की सवारी का आंनद सभी लोग उठाते है। परंतु लोगो की छोटी सी असावधानी इस आनन्द को एक बड़ी दुर्घटना का रूप दे देती है। इसलिए कहते है ना नजर हटी दुर्घटना घटी 1 - प्रस्तावना:- रेल दुर्घटना केवल एक राज्य में ही नहीं अपितु पूरे भारत में ही होती रहती है। रेल दुर्घटनाएं ना हो उसके लिए हम सभी को सचेत रहना होगा। रेलवे स्टेशन जैसी जगहों पर हुड़दंग नहीं मचाना है। अधिकतर लोग ट्रेन पकड़ने के लिए चलती गाड़ी पर चढ़ने की कोशिश करते हैं। जो की रेल दुर्घटना को आम

शिक्षा के निजीकरण पर निबंध essay on Privatization of education in hindi

शिक्षा के निजीकरण पर निबंध या essay on privatization of education in hindi आपसे पूछा जाता है तो आप इस निबंध को आसानी से देख कर समझ कर अपने स्कूल या कॉलेज में बड़ी ही आसानी से लिख सकते हैं। आज के इस निबंध में आपको शिक्षा के निजीकरण से जुड़ी हर महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त कराई जाएगी। शिक्षा के  निजीकरण पर निबंध के शीर्षक कुछ इस प्रकार है:- 1- प्रस्तावना / भूमिका 2- शिक्षा के निजीकरण के कारण 3- सरकारी स्कूलों में बिगड़ती हालत 4- निजी क्षेत्र में शिक्षकों का शोषण 5- निजी क्षेत्र के स्कूल और कालेजों के बढ़ते भाव 6- उच्च शिक्षा और निजीकरण 7- उच्च शिक्षा के निजीकरण का उद्देश्य 8- उच्च शिक्षा में निजीकरण का लाभ 9- उपसंहार / निष्कर्ष 1- प्रस्तावना / भूमिका:- किसी भी बच्चे, या व्यक्ति, या औरत उसके विकास का एकमात्र कारण शिक्षा ही होता है। अतः शिक्षा के कल्याण के लिए सभी को अपना प्रयास निरंतर रखना चाहिए। कोई भी राष्ट्र या देश अपने नागरिकों को शिक्षा के अधिकार से दूर रखता है तो वो कल्याणकारी राज्य या देश की सूची में कदा भी नहीं आ सकता है। आज हम शिक्षा के निजीकरण से जुड़ी हर पहलुओं पर बा

रेलवे स्टेशन पर निबंध इन हिंदी | Essay on Railway Station in hindi.

आज हम इस आर्टिकल में बात करेंगे की रेलवे स्टेशन पर निबंध essay on Railway Station in hindi किस प्रकार लिख सकते हैं। इस आर्टिकल में हम रेलवे स्टेशन से जुड़ी हर बातों को जानेंगे। रेलवे स्टेशन की अपनी अलग ही उपयोगिता होती है। हर छोटे बड़े गावों और शहरों में रेलवे स्टेशन देखने को मिल जाता है। रेलवे निजीकरण पर निबंध इन हिंदी रेलवे स्टेशन पर यात्री ट्रेनों को पकड़ कर एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाते हैं। बड़े और प्रमुख  रेलवे स्टेशन पर बहुत ज्यादा भीड भी होती है। और रेलवे स्टेशन पर खाने के समान से लेकर फेरी वाले की दुकान भी देखने को मिलती है। ताकि यात्रियों को कोई तकलीफ़ ना हो सफर करने में और वो अपना सफर कुशलतापूर्वक कर सके। समाज में हर तरह के लोग होते हैं विभिन्न वर्गों के लोग होते हैं परंतु रेलवे स्टेशन पर आने का लोगो का उद्देश्य यही होता है आगमन या प्रस्थान या किसी संबंधी को लेने आना होता है। या तो वहां पर काम करने वाले लोग आते हैं। निजीकरण पर निबंध इन हिंदी प्रस्तावना:- रेलवे स्टेशन उस जगह को कहते हैं जहां पर बहुत सारी ट्रेन रूकती है। ट्रेन जहां पर खड़ी होती है उस जगह को पटरी कहा जात