पंख अभियान क्या है? MP Pankh Abhiyan 2021

पंख अभियान क्या है? MP Pankh Abhiyan 2021:-

पंख अभियान एक तरह का अभियान है जो कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत शुरू किया गया है। पंख अभियान का मुख्य उद्देश्य बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान को अत्यंत सशक्त बनाना व बेटियों को सेवाएं प्रदान करना है।

पंख अभियान क्या है? मध्य प्रदेश पंख अभियान 2021
पंख अभियान क्या है? मध्य प्रदेश पंख अभियान 2021

आज हम इस आर्टिकल में पंख अभियान क्या है/ MP Pankh Abhiyan 2021 से संबंधित पूरी जानकारी पढ़ेंगे और आज हम आपको मध्य प्रदेश राज्य से संबंधित करंट अफेयर्स भी साझा करेंगे तो आर्टिकल को अंत तक अवश्य पढ़ें-

पंख अभियान क्या है?/What is PANKH Abhiyan?

बेटियो को प्रत्येक क्षेत्र में विकासशील बनाने के लिए पंख अभियान की शुरुआत की गई। पंख अभियान को लेकर एक खास बात यह है कि इसे  राष्ट्रीय बालिका दिवस (24 जनवरी,2021) के उपलक्ष पर शुरू किया गया। यह अभियान “बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान” के तहत ही शुरू किया गया। इसके लक्ष्य बेटियों को शारीरिक, मानसिक, मनोवैज्ञानिक एवं भावात्मक, आजादी और विकास प्रदान करना है।

पंख अभियान से तात्पर्य / PANKH Abhiyan full form:-

पंख शब्द अंग्रेजी के letter P,A,N,K,H से मिलकर बना है जिसके मतलब निम्नलिखित है-

P- Protection (संरक्षण)
A- Awareness (जागरूकता)
N- Nutrition (पोषण)
K- Knowledge (ज्ञान)
H- Health/Hygienic (स्वास्थ्य)

पंख अभियान का motto बेटियों को Protection (संरक्षण), A- Awareness (जागरूकता), N- Nutrition (पोषण), K- Knowledge (ज्ञान), H- Health/Hygienic (स्वास्थ्य) प्रदान करना है।
इन्हीं पांच तत्वों से मिलकर अंक अभियान की संरचना की गई है।

पंख अभियान कब शुरू किया गया?

पंख अभियान की शुरुआत राष्ट्रीय बालिका दिवस के उपलक्ष पर अर्थात 24 जनवरी 2021 को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी के द्वारा किया गया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी ने पंख अभियान की शुरुआत भोपाल के मिंटो हॉल में चल रहे एक कार्यक्रम के दौरान की।

रेल दुर्घटना पर निबंध इन हिंदी

पंख पुस्तिका का किया विमोचन:-

पंख अभियान की घोषणा के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी ने सभी को संबोधित करते हुए बताया कि इस अभियान का उद्देश्य हमारे राष्ट्र की बेटियों को शिक्षा, काबिलियत,अच्छे स्वास्थ्य,आर्थिक मजबूती के द्वारा निखारने का है। 

इस उद्घोषणा के साथ ही मुख्यमंत्री जी ने बालिका सशक्तिकरण के लिए तैयार की गई पंख पुस्तिका का भी विमोचन किया। इस विमोचन के साथ ही पंख अभियान की अधिकारिता तौर पर शुरुआत की।

राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाने की शुरुआत:-

हमारी भारत सरकार ने वर्ष 2008 में प्रत्येक वर्ष 24 जनवरी को राष्ट्रीय बालिका दिवस के रूप में मनाने की शुरुआत की इस दिवस को 24 जनवरी के दिन मनाने का निर्णय इसलिए लिया गया क्योंकि 24 जनवरी 1966 को हमारे देश की प्रथम महिला प्रधानमंत्री श्री इंदिरा गांधी जी ने प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली थी। यह दिन हमारे भारत इतिहास में बेटियों के लिए स्वर्णिम दिन रहा।

24 जनवरी को देशभर में विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम आयोजित होते हैं जिनमें बालिकाओं के लिए अच्छा environment बनाने के लिए एवं बेटियों के प्रति लोगों की जागरूकता बढ़ाने के लिए कार्यक्रम किए जाते हैं।

पंख अभियान मध्य प्रदेश सफल करने की जिम्मेदारी:-

पंख अभियान को सफल बनाने की जिम्मेदारी हमारे देश के महत्वपूर्ण शिक्षा एवं कल्याण विभाग, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की रहेगी।

यह विभाग मिलकर आपस में एक डेटाबेस तैयार करेंगे जिनकी मदद से बेटियों की सुरक्षा,स्वास्थ्य शिक्षा एवं अन्य महत्वपूर्ण तथ्यों की सुनिश्चित की जाएगी। यह डाटाबेस बेटियो की निगरानी करने में भी समर्थ होंगे।

सबसे महत्वपूर्ण तथ्य यह होगा कि इस योजना के अंतर्गत पुलिस विभाग के साथ बेटियों को खुद की रक्षा के लिए प्रशिक्षण (Training) प्रदान किया जाएगा जिससे कि वह अपनी रक्षा स्वयं कर सके।

पंख अभियान का महत्व:-

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत शुरू किया गया पंखा अभियान अपने आप में अत्यंत महत्वपूर्ण और प्रभावकारी है-

1- बेटियो को पुलिस विभाग के साथ मिलकर प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। इस प्रशिक्षण का लाभ बेटियो को इस प्रकार मिलेगा की वह किसी भी समस्या में खुद की रक्षा खुद ही कर पाएंगे उन्हें अपनी रक्षा के लिए दूसरों पर निर्भर होने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।

2- विभिन्न विभाग द्वारा बनाए गए डाटाबेस के मदद से उनके शारीरिक, मानसिक, मनोवैज्ञानिक एवं आर्थिक विकास की निगरानी की जाएगी और उन तक सहायता पहुंचाई जाएगी।

3- पहले बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान और अब पंख अभियान की शुरुआत से लोगों में बेटियों के प्रति जागरूकता में प्रचार होगा और यही जागरूकता आने वाले भविष्य में एक सकारात्मक सुधार के रूप में उभरेगा।

4- पंख अभियान की शुरुआत के बाद बेटियों में आत्मविश्वास की वृद्धि होगी जिससे कि अपने आप को इस समाज में बराबर की हकदार मानेंगी।

पंख अभियान स्लोगन (slogan):-

पंख लगाए बेटियां छूती है ऊंचाइयां।
पर ना जाने इन पर क्यों लगाई जाती है पाबंदियां।।

पंख अभियान स्लोगन (Slogan)
पंख अभियान स्लोगन (Slogan)

निष्कर्ष:- 

बेटियां हमारे समाज की अमूल्य धरोहर है इनकी रक्षा करना हमारा परम कर्तव्य होना चाहिए। बेटी हमारी हो या किसी और की उसका मान-सम्मान हमारा ही होना चाहिए। यदि हमारी यही सोच रहेगी तभी हमारे देश की प्रत्येक बेटी अपने आप को सुरक्षित पाएगी। यदि ऐसा नहीं हुआ तो हमारे देश की दुर्गति होने से कोई भी रोक नहीं सकता।

तो दोस्तों आज हमने पंख अभियान मध्य प्रदेश के विषय में जाना।हमने आपके यहां आपको पर कभी आंच से संबंधित पूरी जानकारी प्रदान की है। हम आशा करते हैं कि आपको यह जानकारी अच्छी लगी होगी।

यदि जानकारी अच्छी लगी हो तो MP Pankh Abhiyan 2021 को अपने दोस्तों, सगे-संबंधियों व रिश्तेदारों में भी अवश्य शेयर करें ताकि उन्हें भी यह जानकारी प्राप्त हो।

सधन्यवाद।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share via
Copy link
Powered by Social Snap