वायु प्रदूषण पर निबंध | Essay on Air Pollution in Hindi

आज हम बात करेंगे वायु प्रदूषण पर निबंध (Essay on Air Pollution in Hindi)  कैसे लिखना है और वायु प्रदूषण क्यों होता है, कैसे फैलता है। इस पर पूरी जानकारी प्राप्त करेंगे और जानेंगे की हम इस प्रदूषण  से कैसे छुटकारा पा सकते हैं।

क्या आपने इसे पढ़ा- पृथ्वी बचाओ पर निबंध

वायु प्रदूषण को रुकने के लिए कई सारे प्रयास किए जा रहे हैं पर ये हमारे पर्यावरण में बहुत ही भारी मात्रा में फैल गया है। वायु हमारे लिए बहुत ही ज्यादा आवश्यक है।

वायु प्रदूषण पर निबंध की बात करें तो यह बहुत ही ज्यादा हानिकारक प्रदूषण है जो हमारे वातावरण में जो हवा है उसमें फैलता जा रहा है और पूरे विश्व में अपने पैर पसार चुका है। ये प्रदूषण भी हम मानव के कारण ही फैल रहा है। इस आर्टिकल में वायु प्रदूषण के बारे में आगे विस्तार से जानेंगे कि किस किस तरह से ये हमारे जीवन में हानिकारक है।

वायु प्रदूषण पर निबंध इन हिंदी
वायु प्रदूषण पर निबंध

प्रस्तावना 

वायु हमारी पृथ्वी पर जीवन जीने का एक अमूल्य तत्व है। इसी से हम मनुष्य को और जीव-जंतुओं को ऑक्सीजन मिलती है। जो कि हमारे जीवन को व्यतीत करने का आधार है। और इसी से वनस्पतियों को कार्बन डाइऑक्साइड (Co2) मिलती है जिससे उसका पोषण होता है। और एक संतुलित साइकिल चलती रहती है।

लेकिन इस संतुलन में तब रुकावट आ जाती है जब  बड़े-बड़े इंडस्ट्रीज,और बड़े बड़े कारखाने जिससे विषैली गैस और तरह तरह के जहरीले पदार्थ निकलते हैं और हमारा वातावरण दूषित हो जाता है। तब जो स्थिति उत्पन्न होती है वह वायु प्रदूषण कहलाती है।

क्या आपने इसे पढ़ा – जल प्रदूषण पर निबंध

वायु प्रदूषण परिभाषा (INTRODUCTION)

हम मनुष्य जब प्रतिदिन के कार्यों में गाड़ी मोटर, और ट्रक वगैरा चलते है और उससे जो भी विषैली गैसे वातावरण में फैलती है जिससे पूरी वायु प्रदूषित होती है और वातावरण को दूषित करती है उस परिस्थिति को हम वायु प्रदूषण कहते हैं। ये विषैली गैसे हम मानव जीवन के लिए बहुत ज्यादा हानिकारक है।

वायु प्रदूषण के कारण  (REASONS)

वायु प्रदूषण के कारण कुछ इस तरह है अगर हम बेहतर ढंग से जाने तो कुछ प्रकृति तो कुछ हम मानव लोग भी इसके लिए जिम्मेदार है ये हमारी ही गलती से उत्पन्न हुआ है। हालांकि सबसे ज्यादा वायु हम मनुष्य के द्वारा है दूषित होती है जैसे – जीवाश्म, कोयला, और तेल का जलना, कहीं आग लग जाना इन सब से काफी ज्यादा वायु बर्बाद होती है और पर्यावरण को भी दूषित करती है।

क्या आपने इसे पढ़ा – धरती माता पर निबंध पूरी जानकारी 

ज्वालामुखी का फटना और उसका लावा, चट्टानों के टुकड़े, और राख, औेर विभिन्न गैसे, और वनों में आग लगने से, पर्यावरण को काफी हानि पहुंचती है। बड़ी बड़ी कोयले कि फैक्ट्री, और अन्य इंडस्ट्री जहां से तरह कि गैसे पास होती है उससे भी वायु प्रदूषित होती है। ये सभी वायु प्रदूषण के कारण है।

क्या आपने इसे पढ़ा – ध्वनि प्रदूषण पर निबंध पूरी जानकारी 

वायु प्रदुशक गैसे कौन सी है?

इस तरह के हानिकारक गैस जैसे कार्बन डायऑक्साइड, नाइट्रोजन ऑक्साइड , सल्फूर ऑक्साइड, कार्बन मोनोऑक्साइड, जैसे विषैले पदार्थ हमारे वातावरण में फैल रहे हैं। इन सब की वागह से पर्यावरण में वायु प्रदूषण का स्तर बढ़ रहा है।

वायु प्रदूषण के प्रभाव (IMPACTS)

वायु प्रदूषण के प्रभाव कई सारे हैं इसका वर्णन निम्नलिखित पॉइंट में है:-

1- वायुमंडल में तरह तरह की गैसे कार्बन मानो ऑक्साइड, कार्बन डाइऑक्साइड, सुल्फुर दाईओक्साइड, जैसी विशाली गाएसो का उत्पन्न होना सबसे बड़ा प्रभाव है। जोकि पर्यावरण को दूषित करती है।

2- ऐसी गैसे जब वातावरण में मिलती है तो हम उसी वातावरण में सांस लेते हैं तब हमे बीमारियां भी ही जाती है।

3- वाहनों और कारखानों से निकलने वाले धुएं जिसमें Sulphur Dioxide नाम की गैस पाई जाती है जिससे हमारा मानव जीवन प्रभावित होता है। और वायुमंडल में प्रदूषण बढ़ता है।

4- वायुमंडल में ऑक्सीजन का कम होना भी मानव जीवन के लिए एक खतरे के समान ही है। पहले हमारे वातावरण का ऑक्सीजन लेवल 24% था पर एक रिसर्च में पता चला है की अब वो घट कर 22% ही बचा है। ऑक्सीजन की कमी से लोगो को सांस लेने में दिक्कत आ जाती है जिससे हमे जान का खतरा भी ही सकता है।

5- वायु के दूषित होने के कारण ही मनुष्य को अस्थमा, दमा, कैंसर, सिर दर्द, पेट की बीमारियां, और एलर्जी, और दिल की बीमारियां जैसी बीमारियां हो जाती है जोकि हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। इन्हीं सब बीमारियों के कारण प्रतिदिन कितने लोगो की मृत्यु भी हो जाती है।

6- वायु प्रदूषण की मात्रा ज्यादा होने की वजह से आए दिन राष्ट्रीय आती रहती है फिर चाहे वह उत्तराखंड नेपाल हो या नेपाल में भूकंप यह सब प्रदूषण के कारण ही होता है। अगर हमें वातावरण को बचाना है तो हमें वायु प्रदूषण को कम करना ही होगा।

वायु प्रदूषण के रोकथाम और निवारण के उपाय (PREVENTION)

वायु प्रदूषण को रोकने के लिए कई सारे उपाय हैं जिसका हमें पालन करना होगा जैसे

1- अगर हमें वायु प्रदूषण से मुक्ति पानी है समय समय पर और ज्यादा से ज्यादा पेड़ पौधे लगाने होंगे। क्योंकि इससे हमें ऑक्सीजन प्राप्त होती है और हम जो कार्बन डाइऑक्साइड छोड़ते हैं उसे यह पेड़ पौधे ग्रहण कर लेते हैं जिसके कारण दूषित हवा और वायु फिर से साफ हो जाती है।

2- आज पूरी दुनिया में जनसंख्या वृद्धि बड़ी तेजी से हो रही है अगर हम किसी तरह से जनसंख्या को कंट्रोल कर लेते हैं तो कार्बन डाइऑक्साइड भी कम हो जाएगी और हमें कम उद्योग और इंडस्ट्रियल धंधे लगाने होंगे। जिससे प्रदूषण की मात्रा में भी गिरावट आएगी।

3- हमें उन कारखानों को बंद करना होगा जहां से विषैली गैसे उत्पन्न होती है और हमारे वातावरण को दूषित करती है। और जो चिमनियां है उसे काफी ऊपर लागना होगा। जिससे हमारा वायुमंडल कम से कम प्रभावित हो और वायु प्रदूषण ना हो।

4- हमें energy के लिए नए sources बनाने होंगे जिससे कोयले और परमाणु ऊर्जा का प्रयोग कम हो जाए।

5- चाहे वायु प्रदूषण हो या किसी अन्य प्रकार का प्रदूषण अगर हमें उसे कम करना है तो हमें लोगों को जागरूक करना ही पड़ेगा। तो ही हम किसी भी प्रदूषण से लड़ पाएंगे और उसे कम कर पाएंगे।

6- वायु प्रदूषण को रोकने के लिए हमारी सरकार को कड़े से कड़े और नए नियम बनाने होंगे जिससे वायु प्रदूषण का निवारण हो सके।

7- अगर हमें वायु प्रदूषण को रोकना है तो ज्यादा से ज्यादा सार्वजनिक वाहन का प्रयोग करना पड़ेगा जिससे कि हम वायु प्रदूषण को रोक सके।

8- हमारे भारत देश में आज भी पुराने वाहन सड़क पर दौड़ते रहते हैं जिससे अधिक मात्रा में जहरीला गैसे निकालता है और हमारे वातावरण को दूषित करती है।

वायु प्रदूषण के रोकथाम और निवारण के उपाय
वायु प्रदूषण के रोकथाम और निवारण के उपाय

उपसंहार:-

वायु प्रदूषण जानलेवा है। इस पर नियंत्रण किया जाना बहुत ही ज्यादा आवश्यक है यह हमारी पृथ्वी को दिन प्रतिदिन दूषित करता जा रहे हैं अगर ऐसे ही चलता रहा तो एक न एक दिन पृथ्वी पर जीवन का नामो निशान ही मिट जाएगा इसलिए हमें वायु प्रदूषण को रोक नहीं होगा। आज हमने वायु प्रदूषण पर निबंध इन हिंदी में जाना कि वायु प्रदूषण क्या होता है और कैसे फैलता है और हम इससे निवारण कैसे पा सकते हैं।

प्रदूषण के बारे में अन्य जानकारी के लिए आप ये पोस्ट भी पढ़ सकते हैं।

Share via
Copy link
Powered by Social Snap