आतंकवाद पर भाषण | Speech on Terrorism in hindi

हेल्लो दोस्तो आज के इस लेख में हम आतंकवाद पर भाषण (Speech/Paragraph on Terrorism in hindi) के बारे में बात करेंगे। जो किसी भी कक्षा के छात्र के लिए होगा। वे अपने teachers day, children day, या किसी भी अन्य पावन अवसर पर दे पाएंगे।

आतंकवाद पूरे विश्व में ऐसा सामाजिक किस्सा बन चुका है कि हर कोई इसी की बात करता है। ये समस्या इतनी गंभीर है कि पूरा देश और हमारे देश विदेश के लोग भी इस महामारी से त्रस्त हो चुके हैं।

क्या आपने इसे पढ़ा- आतंकवाद पर निबंध

जड़ से उखाड़ फेंकने व विश्व स्तर पर शांति स्थापित करने के लिए कई देशों द्वारा उचित उपाय किए जा हैं। परंतु इससे मुक्ति पाना इतना आसान भी नहीं है। तो आइए आतंकवाद पर भाषण शुरू करते हैं।

आतंकवाद पर भाषण for class 6,7,8,9,10,11, 12 & UPSC Students (Speech on Terrorism in hindi)

माननीय प्रधानाचार्य, उप प्रधानाचार्य, सम्मानित शिक्षकगण और हमारे प्यारे छात्रों और मित्रो का इस पावन दिवस पर सभी का स्वागत करता हूं / करती हूं। हर बार की तरह इस बार भी हम अपने विचारों को सभी के साथ साझा करने के लिए इकट्ठा हुए हैं।

ये ऐसा विषय है जिससे हम और हमारा पूरा देश त्रस्त हो चुका है। आज मै आपके सामने आतंकवाद पर स्पीच प्रस्तुत करने जा रहा हूं / जा रही हूं। मैंने इस विषय को इसलिए चुना है क्यूंकि हम सभी को इसके प्रति जागरूक होने की आवश्यकता है और ये भी जानना चाहिए कि कैसे इसने पूरे देश को प्रभावित कर के रखा है।

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि आतंकवाद ने हमारे पृथ्वी पर तबाही मचा रखी है और कई लोगो की बहुमूल्य ज़िंदगियां छिनी हैं। इसके आलवा कई बहादुर सैनिक और अन्य निर्दोष अफसरों ने आतंकवादी हमले के चलते शहीद हुए हैं और दुनिया की अर्थव्यवस्था को बड़ी हानि हुई है। इसके अलावा सबसे महत्वपूर्ण बात ये है कि इसने आम लोगो के दिलो मे इतना डर पैदा कर दिया है कि लोग घर से बाहर निकलने में भी डरते है। जीवन ठहर कर रह गया है।  

अगर हम अपने ज़िन्दगी के कुछ वर्ष पीछे जाए तो हम मुंबई आतंकवादी हमला (यानी की 26/11) पुलवामा अटैक जिसको पुरी जिंदगी भुलाया नहीं जा सकता है। बेचारे कितने निर्दोष लोगो कि जान गई और उनके घर उजाड़ गए थे। ये सिर्फ भारत में भी नहीं अपितु पूरे विश्व में फैला है उदाहरण के तौर पर पाकिस्तान बम हमले से लेकर मुंबई के ताज होटल पर आतंकवादी हमले तक अमेरिका में बमबारी से लेकर ट्विन टॉवर पर हमले तक आतंकवादी संगठनों के द्वारा ही ये घिनौना कार्य किया जाता है।

इनका कोई अपना कानून नहीं होता है ये सरकार पर दबाव बनाते है और अपनी गैर कानूनी जरूरतों को पूरा करने के लिए डराते है। जगह जगह बम लगाने और आतंक करवाने की धमकी देते हैं। जिससे की आम जनता के मन में डर उत्पन्न होता है और ये अपना काम और बखूबी करते हैं।

क्या आपको पता है आतंकवाद जन्म कैसे लेता है? तो चलिए बता देते हैं कि ये बहुत ही साधारण लोग होते हैं दूसरो के द्वारा इनके साथ कुछ ग़लत घटित होने के कारण या फिर प्राकृतिक आपदाओं में किसी अपने या खास को खो देने के कारण ही ये अपने दिमाग पर अपना नियंत्रण खो देते हैं।

इसी कारण से ये अपनी इच्छाओं को सही तरीके से पूरा ना कर के गलत और अभद्र तरीके से पूरा करने की फिराक में पड़ जाते हैं और धीरे धीरे समाज के गलत लोगो के प्रभाव में आते है जहां उनकी सभी इच्छाओं को पूरा करने का वादा किया जाता है और वे एक साथ मिलकर आतंकवादी समूह का निर्माण करते हैं। जोकि अपने ही समाज, राष्ट्र, और मानव समुदाय से लड़ता है। आतंकवाद, देश के  युवाओं के विकास और वृद्धि को प्रभावित करता है। और ये संगठन आज भी अंग्रेज़ो की तरह ही शासन कर रहा है।

पूर्व में ऐसा माना जाता था कि ये सिर्फ जम्मू एंड कश्मीर तक ही सीमित था पर अब ये अपनी जड़े दूसरे क्षेत्र में भी फैला रहे हैं। ये केवल अपने काम को अंजाम देने के लिए अवसर की तलाश में रहते हैं जहां त्यौहार, भीड भाड़, मेला इत्यादि प्रमुख है और तो और इन्होंने मंदिरो में भी ये काला कांड किया हुआ है। जिसके चलते लोगो की मौतें हुई है।

ये आतंकवादी संगठनों का एक प्रमुख होता है जो इन सब को इस तरह से प्रशिक्षित करता है कि वे अन्याय के रास्ते पर चले और अपने ही परिवार, दोस्त, और मानव समुदाय से लड़ने को तैयार रहे। उन्हें अपनी ज़िन्दगी से भी प्यार नहीं होता है। उन्हें ऐसा लगता है कि वे जो कर रहे हैं उसी में उनका धर्म छुपा हुआ है।

हमारे देश की सरकार इन आतंकी समूह को खत्म करने के लिए और इसके खिलाफ लड़ने के लिए ढेर सारे पैसे भी खर्चा करती है। इसके अलावा हमे भी जगह जगह आंतकवाद के खिलाफ प्रचार प्रसार करना चाहिए ताकि ये सब जड़ से खत्म हो पाए। इसके अलावा हमे कुछ बुरे और परेशान लोगो की लालच भरी बातो में नहीं आना है। ये कुछ असरदार उपचार है जिसको कर के हम इससे कुछ हद तक बच सकते हैं।

आज के इस लेख में हमने आपको आतंकवाद पर भाषण (Speech on Terrorism in hindi) दिया है। हमे उम्मीद है आपको हमारा ये लेख पसंद आया होगा। अगर पसंद आया हो तो नीचे कमेंट कर के अपनी बहुमूल्य राए अवश्य दें और हमारे लेख को अपने मित्र, और सगे संबंधियों के साथ अवश्य शेयर करे।

क्या आपने इसे पढ़ा-

3 thoughts on “आतंकवाद पर भाषण | Speech on Terrorism in hindi”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share via
Copy link
Powered by Social Snap